Pages

Subscribe:

Ads 468x60px

test ad

बछड़ा बोला गाय से- काम चलेगा चाय से।





-सूर्य कुमार पाण्डेय-
बछड़ा बोला गाय से
दूध नहीं पीना मुझको,
काम चलेगा चाय से।

बिल्ली बोली शेर से
ठीक समय पहुंचो स्कूल,
क्यों आते हो देर से।

बंदर बोला भेड़ से
मामा अगर कहा मुझको,
कूद पड़ूंगा पेड़ से।

हाथी बोला ऊँट से
प्यास बुझाऊं मैं कैसे,
पानी के दो घूँट से।

6 टिप्पणियाँ:

अर्कजेश said...

बहूत अच्‍छा लगा आपके ब्‍लॉग पर आकर । बच्‍चों जैसा महसूस करने लगे । बढिया बढिया कविताऍं लिखी हैं ।

दिगम्बर नासवा said...

ACHHEE BAAL RACHNA HAI ..... LAGA KUCH DER KE LIYE MAIN BHI BACCHA BAN JAAON TO KITN ACHHA HO .......

Nirmla Kapila said...

sundar baal racanaa hai badhaaI

Brijesh said...

Surya ji, bahut badhiyan kavita hai. Lekin likate waqt jara sabdon par dhyan dijiyega. der ki jagah dur ,kud ki jagah kuch,hathi ki jagah hath likha huan hai.
..... Brijesh

Brijesh said...

maph kijiyega, maine bhi galati kar di. likhate(8th word) ki jagah likate ho gaya.

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ said...

बृजेश जी, गल्तियों की ओर ध्यान दिलाने का शुक्रिया।

इस माह सर्वाधिक पढ़ी गयी कविताएँ